बिहान से जुड़ कर स्व सहायता समूह की दीदियां कमा रही बारह से पन्द्रह हजार रुपए महीने

कोरिया

छत्तीसगढ़ राज्य के कोरिया जिले के विकासखंड बैकुण्ठपुर के ग्राम सावारावा की मां लक्ष्मी महिला स्व सहायता समूह में 10 सदस्य हैं, समूह के सदस्यों में से एक सदस्य लखमनिया सिंह के द्वारा अपने जीवन स्तर को सुधार करने की दिशा में आजीविका के संसाधन के रूप में सेंटरिंग प्लेट किराये में देने का कार्य किया जाता है।

इस व्यवसाय को प्रारंभ करने हेतु बैंक से 50000 रुपए का लोन लिया गया जिससे आज वे अपने उद्यम से 12000 से 15000 रुपए प्रतिमाह की आमदनी प्राप्त कर रही हैं साथ ही उन्हें स्टार्टअप विलेज एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम द्वारा तकनीकी सहायता प्रदान किया जा रहा है। आज वे अपने परिवार का खर्च वहन कर रहे हैं साथ ही साथ इस आमदनी से अपने आजीविका कार्य को आगे बढ़ाते हुए इनके द्वारा मिक्सर मशीन का कार्य भी किया जा रहा है। इनका मानना है कि वे बिहान से जुड़कर खुद को आत्मनिर्भर बनाने में सक्षम हुए हैं तथा समाज व परिवारजनों के बीच में अपने नई पहचान बनाते हुये आर्थिक और सामाजिक रूप से अपने परिवार को और सशक्त कर रही हैं।

छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान महिला सशक्तिकरण व गरीबी उन्मूलन की दिशा में कार्यरत पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्रालय अंतर्गत मिशन है। बिहान (नवा सवेरा) शब्दानुसार अपने उद्देश्यों व महिला सशक्तिकरण को निर्धारित कर प्रतिदिन महिलाओं और समाज को सशक्त बनाने की दिशा में कार्य कर रहा है। बिहान की संरचना तीनों स्तरों राज्य मंत्रालय, जिला पंचायत व जनपद पंचायत स्तर पर कार्यरत् है। जनपद पंचायत, जिला पंचायत के मार्गदर्शन व जिला पंचायत राज्य कार्यालय के मार्गदर्शन पर अपने कार्यों को जमीनी स्तर पर संचालित कर लक्ष्यों व उद्देश्य के प्रति हमेशा प्रयासरत है।

One Comment

  1. This article was a fantastic blend of information and entertainment. It really got me thinking. Let’s discuss further. Click on my nickname for more thought-provoking content!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button