तीन बालिकाओं की कुएं में डूबने से मौत

अंबिकापुर

ग्राम बकनाकला में कुएं में डूबने से दो चचेरी बहन सहित तीन बालिकाओं की मौत से गांव में सनसनी फैल गई है और पूरा गांव शोक में डूबा हुआ है। घटना का पता तब चला जब तीनों बालिकाओं का शव कुएं के पानी के ऊपर आया।

बकनाकला गांव के किनारे खेतों के बीच में एक कुंआ है जो जिसमें शुक्रवार की शाम गांव की ही रेणुका पिता ननकू (4) की तैरती लाश ग्रामीणों ने देखी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को बाहर निकलवाया। इधर उसकी चचेरी बहन गीता पिता चुकलु (6) तथा सोहरी नगेशिया पिता मुखदेव (12) भी घर नहीं पहुंची थी। इनकी खोजबीन भी की गई लेकिन कुछ पता नहीं चला। घरवाले तलाश में जुटे हुए थे कि उन्हें संदेह था कि हो सकता है कि ये दोनों बालिकाएं भी कुएं में डूबी होगी। इसी संदेह पर घरवालों ने फिर कुएं के पास जाकर देखा तो दोनों बालिकाओं का शव पानी में तैरता दिखा। इसकी जानकारी तत्काल लुंड्रा पुलिस को दी गई और पुलिस टीम की मौजूदगी में ग्रामीणों के सहयोग से दोनों बालिकाओं का शव बाहर निकलवाया। घटना को लेकर पुलिस का कहना है कि तीनों बालिकाओं के अलावा गांव की एक-दो और बालिकाएं भी शुक्रवार की सुबह घर से निकली थी। इनमें से एक का तो शव मिल गया लेकिन दो बालिकाओं का पता नहीं चला।

पुलिस ने संभावना जताई जा रही है कि सबसे छोटी बालिका रेणुका संभवत: नहाने के लिए उतरी थी, वह डूबने लगी होगी तो उसकी चचेरी बहन गीता और सोहरी भी उसे बचाने के लिए कुएं में उतरी लेकिन बचा नहीं सकी। तीनों की डूबने से मौत हो गई। छोटी बालिका का शव तो शुक्रवार को ही पानी के ऊपर आ गया था लेकिन दो बालिकाओं का शव शनिवार को ऊपर आ गया था। कोई प्रत्यक्षदर्शी नहीं होने के कारण फिलहाल पुलिस जांच में जुटी हुई। इस दुखद घटना से पूरा गांव शोक में डूबा हुआ है।

One Comment

  1. This article is a gem! The insights provided are very valuable. For additional information, check out: DISCOVER MORE. Looking forward to the discussion!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button