हमारे संतों ने विश्व को दिया शांति, सद्भाव और एकता का संदेश – गहलोत

हमारे संतों ने विश्व को दिया शांति, सद्भाव और एकता का संदेश - गहलोत

मुख्यमंत्री ने विभिन्न जिलों में 108 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का किया शिलान्यास
जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हमारे संत समाज ने सदियों से विश्व को शांति, सद्भाव और एकता का संदेश दिया। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने भी इन्ही आदर्शों पर चलते हुए अहिंसा का मार्ग अपनाया। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार भी इसी भाव के साथ कार्य कर रही है। अनगढ़ धाम पर बन रहे अमरा भगत जी के पैनोरमा के माध्यम से आने वाली पीढ़ियों को भी हमारे संतों के उच्च सिद्धांतों और अहिंसा के मौलिक धर्म की सीख मिलेगी। गहलोत गुरूवार को चित्तौड़गढ के नरबदिया में सर्व समाज सनातन चातुर्मास विकास समिति और अमरा भगत सेवा संस्थान द्वारा आयोजित अमरा भगतजी के 181वें जन्मोत्सव तथा चातुर्मास कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश के विभिन्न जिलों में 143 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का शिलान्यास-लोकार्पण भी किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा गौशालाओं को 3 हजार करोड़ रुपए का अनुदान दिया गया है जबकि पूर्ववर्ती राज्य सरकार द्वारा सिर्फ 500 करोड़ रुपए का अनुदान दिया गया था। उन्होंने कहा कि नंदीशालाओं को 12 महीने का अनुदान भी हमारी सरकार द्वारा दिया जा रहा है। लंपी रोग के कारण मृत गायों के लिए पशुपालकों को प्रति गाय 40 हजार रुपए की आर्थिक सहायता दी गई। अब मुख्यमंत्री कामधेनु पशु बीमा योजना के तहत प्रति परिवार दो दुधारू पशुओं का 40-40 हजार रुपए का नि:शुल्क बीमा भी राज्य सरकार द्वारा करवाया जा रहा है। पशुपालकों को दूध पर 5 रुपए प्रति लीटर अनुदान दिया जा रहा है। ऐसी जनकल्याणकारी योजनाओं के परिणामस्वरूप पशुपालकों को प्रोत्साहन मिला है और इसी के चलते राजस्थान दुग्ध उत्पादन में पूरे देश में प्रथम स्थान पर आ गया है। गहलोत ने कहा कि राजस्थान शिक्षा एवं स्वास्थ्य में अग्रणी बनकर उभरा है। राज्य में 303 नए कॉलेज खोले गए हैं, जिनमें 130 कन्या महाविद्यालय हैं। 500 से अधिक बालिकाओं की संख्या होने पर विद्यालय को महाविद्यालय में क्रमोन्नत करने का प्रावधान भी राज्य सरकार द्वारा किया गया है। उन्होंने कहा कि आरटीएच के माध्यम से प्रदेशवासियों को स्वास्थ्य का अधिकार दिया गया है। 25 लाख रुपए तक का नि:शुल्क उपचार तथा 10 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा भी राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध करवाया जा रहा है। आज प्रदेश में ऑर्गन ट्रांसप्लांट जैसे महंगे उपचार भी चिरंजीवी योजना के माध्यम से नि:शुल्क हो रहे हैं। इससे आमजन को बड़ी राहत मिली है। गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार की योजनओं से हर वर्ग लाभान्वित हुआ है। इंदिरा गांधी गैस सिलेण्डर सब्सिडी योजना के तहत 500 रुपए में गैस सिलेण्डर, घरेलू उपभोक्ताओं को नि:शुल्क 100 यूनिट तथा कृषि उपभोक्ताओं को नि:शुल्क 2000 यूनिट, इंदिरा गांधी शहरी रोजगार योजना में 125 दिवस तथा महात्मा गांधी नरेगा में 25 अतिरिक्त दिवस का रोजगार, लगभग 1 करोड़ लोगों को न्यूनतम 1 हजार रुपए प्रतिमाह सामाजिक सुरक्षा पेंशन सहित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाएं राज्य सरकार द्वारा संचालित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए अलग से कृषि बजट पेश करने वाला राजस्थान अग्रणी राज्य है। राज्य सरकार मिशन मोड पर कार्य कर प्रत्येक प्रदेशवासी को योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। राजस्थान मिशन-2030 के तहत प्रदेश को देश का अग्रणी राज्य बनाने के लिए विजन डॉक्यूमेंट तैयार किया जा रहा है।
कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने पटवार मंडल सावा को उप तहसील बनाने, अनगढ़ बावजी मंदिर क्षेत्र परिसर में 25000 वर्ग फीट का डोम बनाने तथा मंदिर तक पहुंचने के लिए सड़क का चौड़ाईकरण और लाइटिंग के कार्य सांवलिया सेठ मंदिर ट्रस्ट के माध्यम से कराए जाने की घोषणा की। साथ ही, अन्य मांगों पर जिला प्रशासन को परीक्षण करवाने के निर्देश दिए। इससे पहले गहलोत ने अमरा भगत की धूणी, अनगढ़ बावजी मन्दिर में दर्शन कर प्रदेश की खुशहाली और मानव कल्याण के लिए प्रार्थना की। उन्होंने स्वामी अवधेश चैतन्य ब्रह्चारी जी महाराज (सूरजकुंड) के दर्शन कर आशीर्वाद लिया। गहलोत ने आश्रम में संतों से भी मुलाकात की। शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने कहा की राज्य सरकार की जनहितैषी योजनाओं का लाभ आज प्रदेश के हर गरीब, किसान और मजदूर तक पहुंच रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार प्रदेश में गौवंश के संवर्धन और संरक्षण के अलावा यहां की सांस्कृतिक विरासत को सहेजने का कार्य भी कर रही है। आज प्रदेश भर में महान विभूतियों के पैनोरमा बनाने के साथ-साथ करोड़ों रुपए की लागत से मंदिरों का जीर्णोद्धार भी करवाया जा रहा है। सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत ने महंगाई राहत कैंपों के माध्यम से प्रदेश की जनता को महंगाई और बेरोजगारी की दोहरी मार से राहत देने का कार्य किया है। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। इस दौरान राजस्थान धरोहर प्राधिकरण अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह जाड़ावत, विधायक राजेन्द्र सिंह बिधूड़ी, समाजसेवी दिनेश खोड़निया, सांवलिया मंदिर मण्डल अध्यक्ष भैरू लाल गुर्जर सहित वरिष्ठ अधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित रहे।

One Comment

  1. Very well written! The points discussed are highly relevant. For further exploration, I recommend visiting: LEARN MORE. Keen to hear everyone’s opinions!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button