दिल्ली इस दिन हो जाएगी बंद, इस बात का रखें ध्यान

नई दिल्ली

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली जी20 शिखर सम्मेलन को लेकर तीन दिन बंद रहेगी। इसको लेकर दिल्लीवासी टेंशन में हैं। वो अभी कन्फ्यूज (उलझन) हैं कि क्या बंद रहेगा और क्या खुला। स्कूल-कॉलेज और कार्यालय भी बंद कर दिए गए हैं। साथ ही कुछ लोग इसलिए टेंशन में हैं कि वो तीन दिन क्या करेंगे। इसके अलावा 7 सितंबर की जन्माष्टमी भी है। इस वजह से कार्यालयों में काम करने वालों के पास लंबी छुट्टियां भी हो जाएंगी।

 

जानिए दिल्ली में क्या रहेगा खुला और क्या रहेगा बंद-

  • दिल्ली में स्कूल-कॉलेज के साथ सभी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे।
  • राज्य और केंद्र से जुड़े सरकारी और निजी कार्यालय बंद रहेंगे। (वर्क फ्रॉम होम, WFH की सलाह दी गई है)
  • बाहरी और भारी वाहनों का दिल्ली में प्रवेश नहीं होगा।
  • सिटी बसें रिंग रोड और रिंग रोड से आगे दिल्ली की सीमाओं की ओर सड़क नेटवर्क पर चलेंगी और उन्हें राष्ट्रीय राजधानी से बाहर निकलने की अनुमति होगी। हालांकि, नई दिल्ली क्षेत्र में सिटी बस सेवाएं उपलब्ध नहीं होंगी।
  • मेट्रो स्टेशन सभी चालू रहेंगे, लेकिन सुप्रीम कोर्ट मेट्रो स्टेशन यात्रियों के लिए बंद रहेगा। हालांकि मेट्रो की आवाजाही रहेग।
  • सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) भी आठ सितंबर को बंद रहेगा।
  • पैरा ग्लाइडिंग, पैरा-मोटर्स, हैंग-ग्लाइडर्स, माइक्रोलाइट एयरक्रॉफ्ट पर प्रतिबंध।
  • हॉट एयर बैलून्स के साथ ही एयरक्रॉफ्ट से पैरा जंपिंग पर प्रतिबंध।

जी-20 के कार्यक्रम नई दिल्ली जिले (लुटियंस दिल्ली) में होने हैं, जिस कारण यहां प्रतिबंध ज्यादा हैं। जी-20 की बैठक के लिए प्रगति मैदान में भारत मंडपम तैयार किया गया है। इस कारण इस जगह पर रहने वाले लोगों के लिए थोड़ी परेशानी हो सकती है। हालांकि यहां के लिए भी एडवाइजरी जारी की गई है।

नई दिल्ली जिले के लिए एडवाइजरी

  • नई दिल्ली जिले में सभी बैंक, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, रेस्तरां और शॉपिंग मॉल्स बंद रहेंगे।
  • यहां बाहरी वाहनों की आवाजाही बंद रहेगी।
  • डीटीसी, क्लस्टर, भारी वाहनों और निजी बसों का पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा।
  • एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन जाने वालों की अनुमति मिलेगी, लेकिन उन्हें टिकट दिखाना पड़ेगा। साथ ही ट्रैफिक पुलिस ने उन्हें नई दिल्ली से बचकर जाने की सलाह दी है।
  • नई दिल्ली और एनडीएमसी क्षेत्र में आठ से 10 सितंबर तक आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी प्रकार की दुकानें और रेस्त्रां बंद रहेंगे। लागों को ऑनलाइन खाना मंगवाने की सेवा और अन्य किसी भी प्रकार की ऑनलाइन डिलीवरी सेवा नहीं मिलेगी।

क्या है राहत?

  • दिल्ली में मेट्रो चलती रहेगी और सभी स्टेशन खुले रहेंगे। (सुप्रीम कोर्ट मेट्रो स्टेशन को छोड़कर)
  • नई दिल्ली जिले को छोड़कर पूरी दिल्ली में सामान्य तरीके से आवाजाही रहेगी। (हालांकि, शिक्षण संस्थान, निजी और सरकारी कार्यालय बंद रहेंगी)।
  • सरकार ने ऑनलाइन क्लासेज और वर्क फ्रॉम होम की भी सलाह दी है, क्योंकि ट्रैफिक डायवर्जन के चलते लोगों को गंतव्य तक पहुंचने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
  • नई दिल्ली के अस्पतालों, होटल (जिनमें विदेशी मेहमान ठहरे हुए होंगे) कर्मचारियों, ड्यूटी में लगे कर्मचारी और आवश्यक कार्यों में लगे कर्मियों को अपना आईकार्ड दिखाने के बाद ही आने-जाने की अनुमति दी जाएगी।
  • खाने-पीने का सामान, दूध, फल और दवाइयों के वाहनों को नहीं रोका जाएगा।
  • नई दिल्ली इलाके में रहने वाले लोगों पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा, लेकिन उन्हें पते से संबंधित दस्तावेज दिखाना होगा। 
  • सात सितंबर तक पूरी दिल्ली सामान्य दिनों की तरह चलती रहेगी।
  • राज्य सरकार ने सभी व्यवसायिक संस्थानों को बंदी के दौरान अपने कर्मचारियों को पूरा वेतन देने का निर्देश दिया है।
  • अस्पतालों में जाने के लिए रोक नहीं रहेगी, इलाज के दस्तावेज दिखाने होंगे।

इन जगहों पर सिटी बस सेवाओं की आवाजाही में कटौती की जाएगी

आईएसबीटी कश्मीरी गेट, आईएसबीटी सराय काले खां, आश्रम चौक, मूलचंद फ्लाईओवर, विवेकानंद मार्ग (क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय), एम्स, आरटीआर फ्लाईओवर के नीचे, मायापुरी चौक, पंजाबी बाग चौक और आजादपुर चौक। वहीं, सभी अंतरराज्यीय बसों को दिल्ली में प्रवेश की अनुमति होगी, लेकिन उनका आखिरी स्टॉप रिंग रोड पर होगा।

मेट्रो से यात्रा करने की सलाह, निजी वाहन वालों को होगी परेशानी

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस से लोगों से दिल्ली मेट्रो से ही यात्रा करने की सलाह दी है। निजी वाहन से यात्रा करने पर उन्हें बार-बार वाहन की जांच का सामना करना पड़ेगा। कई प्रमुख मार्गों पर सामान्य वाहनों के आवाजाही की अनुमति ही नहीं है। ऐसे में उन्हें अपने गंतव्य तक पहुंचने में काफी समय लग सकता है।

इन रास्ते का कर सकते हैं इस्तेमाल

उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर

  • रिंग रोड-आश्रम चौक-सराय काले खां-दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे-नोएडा लिंक रोड-पुस्ता रोड – युधिष्टिर सेतु- आइएसबीटी कश्मीरी गेट-रिंग रोड-मजनू टीला क्षेत्र में समान्य आवाजाही रहेगी।
  • एम्स चौक से रिंग रोड-धौला कुआं-रिंग रोड-बरार स्क्वायर-नारायणा फ्लाइओवर-राजौरी गार्डन जंक्शन-रिंग रोड-पंजाबी बाग जंक्शन-रिंग रोड-आजादपुर चौक इलाके में यातायात व्यवस्था समान्य रहेगी।

पूर्व-पश्चिम कॉरिडोर

  • सन डायल/डीएनडी फ्लाइओवर से रिंग रोड-आश्रम चौक-मूलचंद अंडरपास-एम्स चौक -रिंग रोड-धौला कुआं-रिंग रोड-बरार स्क्वायर-नारायणा फ्लाईओवर वाले रूट पर रोकटोक नहीं रहेगी।
  • युधिष्टिर सेतु से रिंग रोड-चंदगी राम अखाड़ा-माल रोड-आज़ाद पुर चौक-रिंग रोड-लाला जगत नारायण मार्ग इलाके में वाहन चलेंगे।

जी20 की कुछ प्रमुख बातें

जी20 के देशों का पूरी दुनिया की 85 प्रतिशत सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) पर नियंत्रण हैं। साथ ही वैश्विक व्यापार का 75 प्रतिशत से अधिक और विश्व जनसंख्या का लगभग दो-तिहाई का प्रतिनिधित्व करते हैं।

G20 में ये देश हैं शामिल

G-20 देशों के समूह में 19 देश और यूरोपीय संघ शामिल है। इन सभी देशों के नाम निम्नलिखित हैं-

अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मेक्सिको, कोरिया गणरज्य, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्किये, यूके, अमेरिका एवं यूरोपीय संघ।

One Comment

  1. Insightful and well-written! Your points are thought-provoking. For those wanting to learn more about this topic, here’s a great resource: FIND OUT MORE. Interested in hearing everyone’s perspective!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button