सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने किया इंदिरा रसोई एवं इंटरलॉकिंग सड़क का उद्घाटन आत्मरक्षा प्रशिक्षण में भाग लेकर खिलाडियों का किया उत्साहवर्धन

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने किया इंदिरा रसोई एवं इंटरलॉकिंग सड़क का उद्घाटन आत्मरक्षा प्रशिक्षण में भाग लेकर खिलाडियों का किया उत्साहवर्धन

जयपुर, 15 सितम्बर। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री टीकाराम जूली ने शुक्रवार को अलवर ग्रामीण क्षेत्र के गांव पृथ्वीपुरा में ग्रामीण इंदिरा रसोई एवं इंटरलॉकिंग सड़क कार्य का उद्घाटन किया।
श्री जूली ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के कुशल नेतृत्व एवं प्रबन्धन में राज्य सरकार प्रदेशवासियों के जनकल्याण हेतु पारदर्शिता व निस्वार्थ भाव से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के समग्र विकास को साकार करते हुए प्रदेश की जनता को लाभांवित किया जा रहा है।
 उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत का संकल्प कोई भूखा ना सोए साकार हो रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बडी संख्या में इंदिरा ग्रामीण रसोई खोलकर जरूरतमंद व्यक्तियों को 8 रूपये में पौष्टिक भोजन प्रदान करने का पुनीत काम कर रही है। श्री जूली ने निर्देश दिये कि आमजन के काम किसी भी सूरत में नहीं रूकें, आमजन के कार्यों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी व कार्मिकों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा की राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही फ्लैगशिप योजनाओं का लाभ उठाऐं।
श्री जूली ने हरिपुरा से पृथ्वीपुरा तक जाने वाली इंटरलॉकिंग सड़क एवं गोगाजी महाराज मंदिर की चार दिवारी निर्माण कार्य का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा गुड गर्वेनेंस पर कार्य करते हुए ऐतिहासिक निर्णय लिए गए है जिनसे प्रदेवासियों को निरन्तर लाभांवित किया जा रहा है कि अलवर ग्रामीण सडक तंत्र में आगे बढकर प्रदेश में विकास के मॉडल का नया इतिहास लिख रहा है।
महिला सशक्तिकरण का हो रहा सपना साकार-
श्री जूली ने समग्र शिक्षा अभियान द्वारा मालाखेड़ा नगर पालिका के लक्ष्मी मैरिज गार्डन में आयोजित ब्लॉक स्तरीय सात दिवसीय गैर आवासीय रानी लक्ष्मीबाई आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर के समापन अवसर पर शिरकत कर खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण के सपने को साकार करते हुए विभिन्न योजनाएं संचालित की गई है जिनमें प्रदेशभर की महिलाओं एवं बेटियों को लाभांवित किया गया है। उन्होंने कहा कि बेटियों को निःशुल्क स्कूटी व निःशुल्क उच्च शिक्षा, महिलाओं को रोजगार हेतु प्रशिक्षण, गर्भवती महिला प्रसूताओं को आर्थिक सहायता से लाभांवित महिला सशक्तिकरण के सपने को साकार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बेटियों को आत्मरक्षा प्रशिक्षण देना सराहनीय कार्य है जिससे बेटियां आत्मनिर्भर बन सकेंगी।

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button