डिस्काॅम प्रबन्धन की राजस्थान ट्रांसफार्मर मेन्यूफ्रेक्चर्स एसोशिएशन के प्रतिनिधियों के साथ बैठक आयोजित —आरटीएमए ने ट्रांसफार्मरों की आपूर्ति बढाने की दी सहमति

डिस्काॅम प्रबन्धन की राजस्थान ट्रांसफार्मर मेन्यूफ्रेक्चर्स एसोशिएशन के प्रतिनिधियों के साथ बैठक आयोजित —आरटीएमए ने ट्रांसफार्मरों की आपूर्ति बढाने की दी सहमति

जयपुर, 06 सितम्बर। राजस्थान डिस्काॅम के अध्यक्ष श्री भास्कर ए. सावंत की अध्यक्षता में बुधवार 6 सितम्बर को विद्युत भवन में बैठक आयोजित हुई। बैठक में ट्रांसफार्मर आपूर्ति में आ रही समस्याओं को लेकर राजस्थान ट्रांसफार्मर मेन्यूफ्रेक्चर्स एसोशिएसन के प्रतिनिधियों के साथ वार्ता की गई।
बैठक में जयपुर डिस्काॅम के प्रबन्ध निदेशक श्री आर.एन.कुमावत, जयपुर डिस्काॅम के निदेशक तकनीकी व वित, अधीक्षण अभियन्ता एमएम उपस्थित रहे व जोधपुर डिस्काॅम के प्रबन्ध निदेशक श्री प्रमोद टांक व अजमेर डिस्काॅम के एमएम विंग के अधिकारी वीसी के माध्यम से सम्मिलित हुए। राजस्थान ट्रांसफार्मर मेन्यूफ्रेक्चर्स एसोशिएसन की ओर से श्री तारा चन्द चोधरी अध्यक्ष आरटीएमए, श्री आलोक अग्रवाल सचिव आरटीएमए, श्री विकास गुप्ता विकास ट्रांसफार्मर, श्री कुलभूषण अग्रवाल दीपक ट्रांसफार्मर व श्री सुरेन्द्र बजाज श्री ट्रांसफार्मर बैठक में उपस्थित हुए।
डिस्काॅम्स अध्यक्ष श्री भास्कर ए. सांवत ने बताया कि अगस्त में मानसून की कमी की वजह से बिजली की मांग में अप्रत्याशित बढोतरी हुई है और मांग 17000 मेगावाट तक पहुंच गई है। बिजली की बढी हुई मांग को पूरा करने के लिए एनर्जी एक्सचेंज से मंहगी दरों पर 10 रुपए प्रति यूनिट तक भी बिजली खरीदनी पड़ रही है और दूसरा पावर प्लांट के लिए कोयले की आपूर्ति हेतु कोल इण्डिया लिमिटेड को एडवांस पेमेन्ट करना पड़ता है। इन सब वजह से ट्रांसफार्मर सप्लायर्स के पेमेन्ट में कुछ देरी हुई है।
उन्होंने बताया कि मंगलवार को प्रदेश में बिजली आपूर्ति की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय में आयोजित बैठक में निर्देश प्रदान किए है कि उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली की आपूर्ति की जाए और जले हुए ट्रांसफार्मरों को प्राथमिकता से बदलने की कार्यवाही की जाए। इसलिए आरटीएमए रिपेयरिंग वाले व नए ट्रांसफार्मर की आपूर्ति को बढाए और समय पर ट्रांसफार्मर की आपूर्ति करे।
बैठक में आरटीएमए के अध्यक्ष श्री ताराचन्द चैधरी ने ट्रांसफार्मरों की आपूर्ति में आ रही समस्या के बारे में अवगत कराया और कहा कि पेमेन्ट में हुई देरी की वजह से ट्रांसफार्मरों की आपूर्ति में कुछ दिक्कत आई है और हम शीघ्र ही इसकी आपूर्ति को बढा देगें। इस पर श्री सांवंत ने आरटीएमए के प्रतिनिधिधियों को आश्वस्त किया कि प्राथमिकता वाले पेमेन्ट को समय पर करवाने का प्रयास किया जाएगा लेकिन आपकी जिम्मेदारी अधिक रहेगी कि समय पर ट्रांसफार्मरों की आपूर्ति सुनिश्चित हो ताकि इसकी वजह से बिजली आपूर्ति में कोई व्यवधान नही आए। जयपुर डिस्काॅम के प्रबन्ध निदेशक श्री आर.एन.कुमावत ने कहा कि जयपुर डिस्काॅम द्वारा 31 अगस्त तक का पेमेन्ट शीघ्र ही कर दिया जाएगा।

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button