जिलाधिकारी आगरा भानु चंद्र गोस्वामी की अध्यक्षता में कृषि, सिंचाई,भूमि संरक्षण, लघु सिंचाई इत्यादि विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा बैठक संपन्न

जिलाधिकारी आगरा भानु चंद्र गोस्वामी की अध्यक्षता में कृषि, सिंचाई,भूमि संरक्षण, लघु सिंचाई इत्यादि विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा बैठक संपन्न

आगरा।  जिलाधिकारी आगरा  भानु चंद्र गोस्वामी की अध्यक्षता में जनपद में कृषि, भूमि संरक्षण,एवं उद्यान क्षेत्र को विकसित करने के उद्देश्य से शासन की विभिन्न विभागीय योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित कराया जाने हेतु कलेक्ट्रेट सभागार में समीक्षा बैठक संपन्न हुई। बैठक में सर्व प्रथम जिलाधिकारी द्वारा कृषि विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की अद्यतन प्रगति रिपोर्ट तलब की, जिसमें बताया गया कि किसान सम्मान निधि के अंतर्गत लगभग 52 हजार कृषकों का आधार सीडिंग तथा ई- केवाईसी लंबित है, जिलाधिकारी महोदय ने कृषकों की जांच कर आधार सीडिंग तथा ई-केवाईसी कराने हेतु उपनिदेशक कृषि को निर्देशित किया। जिलाधिकारी द्वारा जनपद में खाद बीज के भंडारण तथा उपलब्धता की जानकारी करने पर बताया गया कि जनपद में बड़े रकबे में आलू बुवाई की जाती है जिस हेतु डीएपी, एनपीके इत्यादि की प्रति वर्ष आपूर्ति में अव्यवस्था होती है, जिलाधिकारी ने खाद की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित कराए जाने हेतु जिला प्रबंधक पीसीएफ से आपूर्ति सुनिश्चित करने की कार्य योजना तथा क्या विशेष व्यवस्था की है पूछे जाने पर उनके द्वारा समुचित उत्तर न देने कड़ी फटकार लगाई तथा मौके पर ही पीसीएफ के उच्चाधिकारियों से फोन से वार्ता की तथा जनपद में आगामी आलू बुवाई सीजन को देखते हुए पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
बैठक में भूमि संरक्षण कार्यक्रम की समीक्षा में जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों से अपनाए गए भूमि संरक्षण के उपाय से जलस्तर में वृद्धि, मृदा जांच रिपोर्ट, कितनी भूमि,भू सुधार उपायों से संरक्षित की गई, संबंधित अधिकारियों द्वारा संतुष्टि पूर्ण जवाब तथा प्रगति रिपोर्ट नहीं दी गई इस पर जिलाधिकारी द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा भूमि संरक्षण के कार्यों को मौके पर देखने के निर्देश दिए। बैठक में सिंचाई विभाग की समीक्षा में बताया गया कि जनपद की 64 प्रतिशत भूमि नहरों, राजवाहों द्वारा सिंचित होती है,82 कुल टेल में से 79 टेल तक जलापूर्ति की जाती है, जिलाधिकारी ने सभी नहरों व राजवाहों की सिल्ट सफाई सुनिश्चित करने को निर्देशित किया, बैठक में यमुना पर प्रस्तावित रबर डैम की समीक्षा में बताया गया कि कार्यवाही गतिशील है 06 एनओसी प्राप्त हो गई हैं 01 एनओसी प्राप्त करने के लिए प्रक्रिया प्रस्तावित है, अधिशासी अभियंता सिंचाई ने बताया कि 42 बंदियां खेरागढ़ में संचालित हैं जिनमें 35 बंदियों की पुनर्स्थापना का कार्य प्रगति पर है। बैठक में जिलाधिकारी ने चैक डैम की समीक्षा की तथा विगत 10 वर्ष में स्थापित चैक डैम की जानकारी ली जिसमें बताया गया कि 84 चैक डैम स्थापित किए गए हैं तथा 50 चैक डैम बनाए जाने हेतु सर्वे का कार्य किया जा रहा है, बैठक में जनपद में नलकूपों की समीक्षा में बताया गया कि कुल 281 नलकूप संचालित हैं जिनमें से 05 का विभिन्न कारणों से संचालन नहीं हो रहा है, जिलाधिकारी ने नलकूप संचालित हैं या नहीं इसकी रिपोर्ट मैनुअल न लेकर संबंधित नलकूप की बिजली मीटर की खपत रिपोर्ट से भी मिलान करने हेतु निर्देशित किया। बैठक में उद्यान विभाग की समीक्षा की गई तथा शाहजहां गार्डन में पौधारोपण कराने, ग्रीनरी बढ़ाने, लैंप पोस्ट तथा टूटे फूट की मरम्मत कराने हेतु निर्देशित किया। बैठक में उपनिदेशक कृषि, पुरुषोत्तम मिश्रा, जिला कृषि अधिकारी श्री विनोद कुमार, अधिशासी अभियंता सिंचाई सौरभ शरद गिरी, उपनिदेशक उद्यान, तथा भूमि संरक्षण, लघु सिंचाई, पीसीएफ इत्यादि विभागों के अधिकारी गण मौजूद रहे।

One Comment

  1. This article really captured my attention. The writing style was engaging. Id love to hear more opinions. Click on my nickname for more discussions!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button